केन्द्रीय सुरक्षा बलों व प्रदेश पुलिस को मिलकर काम करना जरूरी- मुख्यमंत्री - Police Wala News

केन्द्रीय सुरक्षा बलों व प्रदेश पुलिस को मिलकर काम करना जरूरी- मुख्यमंत्री

लखनऊ .मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पुलिस अफसरों को नसीहत दी कि आतंकवाद और अलगवाद से निपटना आसान हो जाएगा, अगर केन्द्रीय सुरक्षा पुलिस और प्रदेश पुलिस बल मिलकर काम करें .हर प्रदेश की पुलिस सिर्फ अपने यहां के अपराध न देखें बल्कि वह दूसरे प्रदेशों के साथ समन्वय भी बनाकर रहे तो अच्छे परिणाम आएंगे.

बुधवार को डॉयल-100 में तृतीय उत्तरी क्षेत्रीय पुलिस समन्वय समिति की बैठक के उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जनता से दोस्तों की तरह व्यवहार करें किन्तु अपराधियों के साथ सख्त रवैया अपनाया जाए .ऐसा करने पर जनता से ही पुलिस को कई खुफिया जानकारी भी मिलेंगी. कई राज्यों की सीमा के साथ ही नेपाल देश की सीमा भी प्रदेश से जुड़ी हुई है. इससे यहां की पुलिस के सामने कानून-व्यवस्था और अपराध नियत्रंण बड़ी चुनौती है.

उन्होंने कहा कि सरकार को यह अनुभव मिला है कि संगठित अपराधियों के खिलाफ ज्यादा सख्ती होने पर वह पड़ोसी राज्यों और नेपाल में शरण लेते हैं. जरूरत है कि मजबूत खुफिया तंत्र बनाकर समन्वय के साथ सूचनाओं का आदान-प्रदान सभी राज्यों की पुलिस के बीच हो. इससे संगठित अपराधों के साथ महिलाओं के प्रति अपराध, आतंकवाद, पर प्रभावी कार्रवाई की जा सकती है.

मुख्यमंत्री ने पांच प्रदेशों के पुलिस अफसरों को नसीहत देते हुए कहा कि एंटी भू-माफिया टास्क फोर्स का गठन होने से अपराध नियंत्रण में काफी मदद मिली है. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वर्ष 2015 में पुलिस बलों के बीच समन्वय बनाने के लिए पांच क्षेत्रीय समितियां गठित करने का सुझाव दिया था. उत्तर प्रदेश के साथ ही हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, जम्मू और कश्मीर, हरियाणा, चंडीगढ़ उत्तर क्षेत्रीय पुलिस समन्वय समिति का सदस्य है. इससे पहले इनकी बैठक दिल्ली और शिमला में हो चुकी हैं.