उन्नाव: प्रसूता की मौत के मामले में मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने की जाँच - Police Wala News

उन्नाव: प्रसूता की मौत के मामले में मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने की जाँच

बीघापुर,उन्नाव। बीघापुर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र से सोमवार को जिला अस्पताल रेफर की गई प्रसूता की मौत के मामले में मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बुधवार को जांच की। ड्यूटी पर रही महिला चिकित्सक व स्टाफ नर्स के बयान दर्ज किय हैंे। सी. एम. ओ. ने कहा विस्तृत जांच के लिए दो सदस्यीय टीम गठित की गई है। जिसकी रिपोर्ट पर दोषियों के विरुद्ध कार्यवाही की जाएगी।

बारा सगवर थाना क्षेत्र की धानीखेड़ा गांव की रहने वाली ममता पत्नी बड़े लाल की सोमवार को मातृ शिशु कल्याण केंद्र बीघापुर में सुबह डिलीवरी हुई थी किंतु शाम को प्रसूता की हालत बिगड़ने पर जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया था। जहां उसकी मौत हो गई थी ।मामले में जिलाधिकारी के निर्देश पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ0 राजेंद्र कुमार ने जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ0 आर. के. गौतम व उप मुख्यचिकित्सा अधिकारी डॉ0 नरेंद्र कुमार के साथ प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र बीघापुर पहुंचकर मामले की जांच की। उन्होंने प्रसव के समय मौजूद स्टाफ नर्स रश्मि द्विवेदी व महिला चिकित्सक डाॅ0 अनुपमा सिंह के बयान दर्ज किए। उन्होंने मातृ-शिशु प्रसव पुस्तिका का निरीक्षण किया।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया प्रसूता की हालत गंभीर होने के समय मौजूद स्टाफ नर्स अलका वर्मा व चिकित्सक विनोद कुमार के मौजूद न होने पर बयान दर्ज नहीं किए जा सके ।मामले की विस्तृत जांच के लिए जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ0 आर. के. गौतम व उपमुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ0 नरेंद्र कुमार की दो सदस्य समिति गठित की गई है। जिसकी जांच रिपोर्ट आने पर दोषियों के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी ।उन्होंने कहा कि जिस समय प्रसूता को यहां से हालत बिगड़ने पर रेफर किया गया उस समय कोई भी ब्लीडिंग नहीं हो रही थी केवल झटके पढ़ रहे थे। सीएमओ ने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर टीकाकरण ऑनलाइन किए जाने की सुस्त प्रक्रिया पर प्रभारी चिकित्सा अधिकारी व कंप्यूटर सहायक नीरज सिंह पर नाराजगी व्यक्त करते हुए फटकार भी लगाई।

प्रकरण की जांच करने के पूर्व मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अचलगंज का निरीक्षण किया जिसमें नेत्र सहायक अमित मिश्रा, जैती व टी. बी. पर्यवेक्षक तारिक मसूद अनुपस्थित मिले। वहीं अमित तिवारी ब्लाक कम्प्यूटर आपरेटर 3 दिनों से लगातार गैर हाजिर चल रहे हैं। ऊंचगांव प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की चिकित्सक डॉ0 कीर्ति गुप्ता अनुपस्थित मिलीं तथा प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ0 राजेश अनुपस्थित मिले किंतु फार्मेसिस्ट ने बताया कि प्रभारी चिकित्सक टीकाकरण निरीक्षण के लिए गए हैं ।अस्पताल में गंदगी देख उन्होंने फार्मेसिस्ट को सख्त चेतावनी दी। मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि अनुपस्थित लोगों का वेतन रोक दिया जाएगा।

रिपोर्ट: डॉ. मान सिंह