यूपी क्राइम में पहले नंबर पर नहीं बल्कि देश में 26 वें स्थान पर है.- DGP सुलखान सिंह - Police Wala News

यूपी क्राइम में पहले नंबर पर नहीं बल्कि देश में 26 वें स्थान पर है.- DGP सुलखान सिंह

लखनऊ .पुलिस महानिदेशक सुलखान सिंह ने दावा किया है कि प्रदेश में अपराधों में कमी आई है. डकैती की वारदातें एकदम न के बराबर रह गई और हत्या का ग्राफ भी पिछले दो सालों की तुलना में बहुत कम हुआ है. दुराचार भी कम हुए हैं. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अपराध का आंकलन क्राइम रेट से होना चाहिये क्योंकि यूपी की आबादी ज्यादा है लिहाजा इस आधार पर ही अपराध की स्थिति को देखा जाना चाहिए .

पुलिस महानिदेशक ने बताया कि यूपी में अपराध दूसरे राज्यों की तुलना में काफी कम हैं. क्राइम रेट 128.7 है तो कि पूरे देश के औसत रेट 233.6 से भी कम है. यही नहीं कनविक्शन रेट भी अखिल भारतीय औसत रेट 46.8 से ज्यादा 59.0 फीसदी हैं. पिछले दिनों एनसीआरबी के आंकड़ों के आधार पर अपराधों में यूपी को नंबर वन बताया गया था.

पुलिस महानिदेशक  ने इसे नकारते हुए अपराध विश्लेषण आंकड़ों के साथ पेश किया, जिसमें बताया कि यूपी क्राइम में पहले नंबर पर नहीं बल्कि देश में 26 वें स्थान पर है.

पुलिस महानिदेशक सुलखान सिंह ने कहा कि यह महकमा सीमित पुलिस कर्मियों के साथ काम कर रहा है. वर्ष 2016 में देश में 156 के सापेक्ष 121 पुलिस कर्मी उपलब्ध है जबकि उत्तर प्रदेश में प्रति लाख जनसंख्या पर स्वीकृत नियतन 171 के सापेक्ष सिर्फ 78 पुलिसकर्मी हैं पर पुलिस बल की इतनी ज्यादा कमी होने के बाद भी अपराध नियंत्रण की दिशा में अच्छा काम हुआ है और हो रहा है.

पुलिस महानिदेशक सुलखान सिंह  ने  एफआईआर दर्ज न होने की बात पर कहा कि यूपी पुलिस ने ट्विटर सेवा शुरू की जिस पर काफी अच्छा काम हो रहा है.ट्विटर पर आने वाली हर शिकायत पर कार्रवाई हो रही है. यही वजह है कि इस सेवा को कई अवार्ड भी मिल चुके हैं. इस बीच ही यह सवाल उठा कि ग्रामीण इलाकों में लोग ट्विटर का इस्तेमाल नहीं कर पाते हैं ,सवाल के जबाब में  उन्होंने कहा कि इसके लिए वह डायल-100 पर शिकायत करने के अलावा अधिकारियों से सम्पर्क कर सकते हैं या वह अफसरों को मैसेज कर सकते हैं. मैसेज पर भी कार्रवाई की जा रही है.साइबर अपराध बढ़ने  के सवाल पर उन्होंने  कहा कि इन पर रोक के लिये साइबर सेल बन चुके हैं. कई आईटी सिटी में इस तरह के अपराध बढ़े हुये हैं. यूपी में भी इसका असर है पर,इस समय एसटीएफ और साइबर सेल अच्छा काम कर रहे हैं.शीघ्र ही  इसके परिणाम भी दिखाई पड़ने लगेंगे.