मध्य प्रदेश के डीजी पहुँचे उ.प्र. के अपने पैतृक गाँव, कुल देवी की किए अराधना - Police Wala News

मध्य प्रदेश के डीजी पहुँचे उ.प्र. के अपने पैतृक गाँव, कुल देवी की किए अराधना

उन्नाव। अपनी मातृ भूमि जब सात समुंदर पार से भी बुलाती है तो लोग कितने ही उच्च पद पर क्यों न हों उन्हें गाँव की माटी अपने माथे पर लगाने आना ही पड़ता है।ऐसा ही वाकिया हुआ मध्य  प्रदेश के पुलिस महानिदेशक अभियोजन राजेंद्र कुमार श्रीवास्तव के साथ। वे बारा सगवर थाना क्षेत्र में अपने पैतृक गांव करनाईपुर पहुंचे और पुलिस महानिदेशक ने सपरिवार अपनी कुलदेवी की पूजा अर्चना कर गांव वासियों से भी मिले। उन्होंने अपने पूर्वजों की जानकारी भी ग्रामीणों से ली।

60 वर्ष बाद अपने पिता की जन्मस्थली पहुंचे मध्यप्रदेश के डीजी अभियोजन राजेंद्र कुमार ने अपने पिता की जन्मभूमि को देखकर भावुक हो गए ।उनके साथ उनकी पत्नी सहायक व्याख्याता एनआईटी भोपाल सुचि श्रीवास्तव ,पुत्र श्रेयस,  बेटी सुकीर्ति साथ थी। पत्रकारों के साथ बातचीत में डीजी ने बताया कि उनके पिता का जन्म 1930 में करनाईपुर में हुआ था और वह 1955 तक गांव में रहे उसके बाद से गांव का आवागमन छूट गया।

जानकारी करने के बाद गांव का पता लगाया और पिता के जन्म भूमि की उत्कंठा यहां तक सपरिवार उन्हें  खींच लाई ।पुलिस व्यवस्था पर चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि जब तक जनता से पुलिस के संबंध बेहतर नहीं होंगे तब तक अपराधों पर नियंत्रण कारगर नहीं हो सकता पुलिस सुधार एक लंबी प्रक्रिया है जो धीरे-धीरे चल रही है आधुनिक तकनीक का प्रयोग कर पुलिस अपराध को रोकने में तथा गरीब को न्याय दिलाने में दिन-प्रतिदिन सक्षम हो रही है। उनकी पत्नी सूची श्रीवास्तव जो एनआईटी भोपाल में प्रोफेसर के पद पर कार्यरत हैं ने अपने पति के साथ अपने ससुर की जन्मस्थली देख भाव विभोर हो गए .

उन्होंने कहा कि वह गांव के मेधावी एक बच्चे का खर्च वहन करेगी तथा प्रयास होगा कि वह प्रतिवर्ष अपने पूर्वजों के सम्मान में कोई कार्यक्रम करें वही साथ आए उनके पुत्र श्रेयस श्रीवास्तव ने बताया कि वह अपने बाबा की जन्मभूमि देख अत्यंत खुश है परिवार के संग उन्होंने गांव की गलियों का भ्रमण भी किया श्रेयस श्रीवास्तव् बेटी सुकीर्ति भारतीय प्रशासनिक सेवा की  तैयारी कर रही है।

रिपोर्ट: डॉ. मान सिंह